क्या है मां बनने की सही उम्र.
photo source : ZenParent

मेडिकल जर्नल ओबस्टेट्रिकियन और गाइनेकोलॉजिस्ट और रॉयल कॉलेज ऑफ ओबस्टेट्रिकियंस और गायनोलॉजिस्ट की रिसर्च कहती है कि “गर्भवती होने के लिए सबसे सुरक्षित उम्र 20 से 35 तक है”।

विशेषज्ञों का मानना है कि 35 के बाद गर्भधारण करने वाली महिलाओं को स्वस्थ बच्चा जन्म देने की संभावना कम होती है। इस उम्र में गर्भपात, समय से पहले शिशु का जन्म जैसी गंभीर समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है।- उनके मुताबिक 30 के बाद हर गुजरते महीने के साथ महिला के गर्भ धारण करने की संभावना 20 प्रतिशत तक कम हो जाती है। 30 के बाद प्रजनन क्षमता कम होती है और महिलाओं में अंडों के उत्पादन की क्षमता कम होती है।

अगर आप दो बच्चे प्लान कर रहे हैं तो सबसे बेहतर हैं कि आपका पहला बच्चा 20 से 23 के बीच और दूसरा 27 से 29 की उम्र में हले हो जाये।- ज्यादातक करियर बनाने की इच्छुक महिलाएं ही 30 के बाद मां बनने का विचार कर रही हैं।- एक अन्य शोध के मुताबिक, जो महिलाएं शादी के तुरंत बाद बच्चे पैदा कर लेती हैं, उन्हें गर्भधारण में तो समस्याएं आती ही हैं उनका बच्चा भी अस्वस्थ पैदा होता है।

न्यूजीलैंड में आकलैंड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने शोध के दौरान पाया कि जो महिलाएं शादी के कुछ दिनों या कुछ हफ्तों के बाद ही गर्भवती हो जाती हैं, उनकी और उनके बच्चे की जान को तीन गुना खतरा बढ़ जाता है। इस अवस्था को प्री-एक्लेंप्सिया कहते हैं। इसके कारण न्यूजीलैंड में हर साल एक हजार नवजात बच्चों और दस मांओं की मृत्यु हो जाती है। इसलिए अगर आपकी शादी 20 से 25 के बीच होती है तो गर्भवती होने के लिए खुद को समय दें लेकिन यदि आपकी शादी 30 के बाद होती है तो तुरंत बच्चे की प्लानिंग करना सही रहेगा।

अलग – अलग उम्र में गर्भवती होना

1. 20’s की उम्र में गर्भवती होना

विशेषज्ञों की और घर में नानी दादी की मानें को 20 से 30 साल की उम्र गर्भधारण करने के लिए सबसे सही है। इस दौरान रक्तस्राव भी नियमित होता है और हर महीने अंडे बनते हैं। इस दौरान गर्भधारण करने के कई मौके मिलते हैं और इसमें रिस्क नहीं होता है। विशेषज्ञों के मुताबिक 24 साल की उम्र में मां बनने के लिए सबसे बेहतर उम्र है। इस उम्र में अगर आप गर्भनिरोधक इस्तेमाल नहीं करते है तो हर महीने आपके गर्भवती होने की संभावना होती है। हालांकि अब इस उम्र में महिलाओं का फोकस अपना करियर बनाने में है।

30 की उम्र के बाद मां बनना

अगर आप 30 साल के बाद गर्भधारण करती हैं तो आपको गर्भावस्था के बनाएं रखने में काफी दिक्कतें हो सकती है। इस उम्र में शरीर में हार्मोन बदलते रहते हैं, जिससे गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है। इस उम्र में शरीर अंड़ों का उत्पादन नहीं कर पाता, जिस कारण गर्भधारण की संभावना कम होती है। 30 के बाद अगर मां बनने की सोच रही हैं तो आपको अपनी लाइफस्टाइल को सही करनी होगी। इसके लिए सही खान – पान और एक्सरसाइज करनी पड़ेगी। आपका ब्लड़ प्रेशर भी सामान्य रहना आवश्यक है।

40 की उम्र में मां बनना

प्राकृतिक रुप से 40 के बाद गर्भवती होना काफी मुश्किल होता है। यदि आप 40 के बाद मां बनने की सोच रही हैं तो विट्रो फर्टिलाइजेशन यानी आईवीएफ को चुनें। इसमें आपके अंडाशय में से डिंब निकालकर प्रयोगशाला में शुक्राणु के साथ मिलाया जाता है। इसके बाद निषेचिक डिंब को आपके गर्भाशय में डाल दिया जाता है। हालांकि  इस उम्र में कोई भी तरीका आपके और आपके बच्चे के लिए खतरनाक ही है ।40 की उम्र में गर्भवती होना आपने हाइपरटेंशन की संभावना को बढ़ा देता है और साथ साथ गर्भ के दौरान होने वाले समस्याओं को भी।

क्यों नहीं करना चाहिए कम या ज्यादा उम्र में गर्भधारणजो महिलाएं 18 से पहले या 35 के बाद गर्भधारण करती है। उनके बच्चे मानसिक रुप से कमजोर हो सकते हैं। साथ ही शारीरिक रुप से भी ये बच्चे कमजोर होते हैं।
कम उम्र में मां बनने के जोखिमसंयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (UNFPA) की रिपोर्ट के अनुसार प्रत्येक साल 18 वर्ष से कम उम्र की करीब 73 लाख लड़कियां मां बनती हैं। इन 73 लाख में से भी तकरीबन 20 लाख लड़कियां वे होती हैं जिनकी उम्र 14 वर्ष या उससे भी कम होती है। ऐसी लड़कियों को भविष्य में कई स्वास्थ्य समस्याएं हो जाती हैं और इन लड़कियों की मौत होने का खतरा भी बढ़ जाता है। कम उम्र में मां बनने वाली महिला और बच्चे दोनों को  स्वास्थ्य के लिए कई चुनौतियां पैदा हो जाती हैं।

अधिक उम्र के बाद गर्भवती होने पर जोखिमअगर आप 35 साल के बाद गर्भवती होती है तो सिजेरियन डिलीवरी से बच्चे का जन्म करवाना पड़ सकता है। साथ ही देर से गर्भधारण करने के कारण आपके बच्चे में न्यूरल ट्यूब दोष या डाउन सिंड्रोम जैसी जेनेटिक असामान्यताएं विकसित होने की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि नियमित रुप से अल्ट्रासाउंड़ और टेस्ट कराने से पहले ही इन बीमारियों का पता लगाया जा सकता है।

 

Comments

comments