12वीं के रिजल्ट आने  के बाद ही कॉलेजों में एड़मिशन लेने की टेंशन शुरू हो जाएगी। बेस्ट कॉलेज में पढ़ना हर बच्चे का सपना होता है। ऐसे ही हजारों  बच्चों का सपना दिल्ली विश्वविद्यालय में एड़मिशन लेना भी होता है, यहां एड़मिशन लेना आसान नहीं होता, कई सारी प्रतिस्पर्धा से गुजरना पड़ता है। यूं तो आपने परीक्षा की तैयार कर ही ली होगी और अब  अगर आप दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ाई करना चाहते हैं तो एड़मिशन से जुड़ी खास जानकारियां यहां देख लें।

दिल्ली विश्वविद्यालय में एडमिशन के लिए आवेदन इसी सप्ताह से शुरु हो जाएंगे। ये आवदेन 10 मई से 14 मई के बीच शुरु होंगे।

एडमिशन के लिए ऑनलाइन पोर्टल खोला जाएगा। इसकी आधिकारिक घोषणा एक-दो दिन में कर दी जाएगी। आवेदन एक ही पोर्टल पर करना होगा।

छात्रों को करीब एक महीने तक एडमिशन के लिए आवेदन का मौका मिल सकता है।

DU में 9 प्रोफेशनल कोर्सेस को छोड़कर स्नातक के सभी पाठ्यक्रमों के लिए मेरिट के आधार पर एडमिशन मिलता है।

बीकॉम ऑनर्स, बीए (ऑनर्स) इकोनॉमिक्स, बीए (ऑनर्स) बिजनेस इकोनॉमिक्स, बैचलर ऑफ मैनजमेंट स्टडीज जैसे पाठ्यक्रमों में एडमिशन के लिए कक्षा 12वीं में मैथ्स होना जरुरी है।

इकोनॉमिक्स ऑनर्स और बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज के लिए मैथ्स की पढ़ाई 12वीं में अनिवार्य है। इन पाठ्यक्रमों में चार विषयों के अंकों को मिलाकर ही मेरिट तैयार की जाती है।

बीएमएस, बीबीए, बीएलएड, बीए (ऑनर्स) बिजनेस इकोनॉमिक्स, हेल्थ एजुकेशन एंड स्पोर्टस, बीए (ऑनर्स) मल्टीमीडिया एंड मास कम्यूनिकेशन समेत कई कोर्सेस के लिए प्रवेश परीक्षा देनी होगी।

एमफिल और पीएचडी में एडमिशन चाहिए तो इसके लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होगी।

प्रवेश परीक्षा में चुने गए छात्रों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा।

Comments

comments